एनबीएफसी या बैंक: बिजनेस लोन के लिए कौन है बेहतर विकल्प

कारोबार छोटा हो या बड़ा, पैसों की जरूरत दोनों में ही होती है। पैसों को इस जरूरत को पूरा करने के लिए बिजनेस लोन की आवश्यकता होती है। मगर जो सबसे बड़ी समस्या छोटे कारोबारियों को झेलनी पड़ती है, वो है कि बिजनेस लोन के लिए बैंको का चक्कर लगाना। ऐसे में बैंकों के अलावा छोटे कारोबारी एनबीएफसी बिजनेस लोन ले सकते हैं।

बैंको से बिजनेस लोन-

कारोबारी पारंपरिक तौर पर बैंको से लोन लेते आ रहे हैं। यह लोन लेने का पुराना तरीका है। आज भी ज्यादातर कारोबारी बिजनेस लोन के लिए बैंकों पर निर्भर रहते हैं। मगर बैंकों से बिजनेस लोन लेने में जो सबसे बड़ी समस्या आती है, वो होती है बैंकों की लंबी-चौड़ी कागजी कार्यवाई और उनकी योग्यता मानदंड। ज्यादातर छोटे कारोबारी बैंको की इस प्रक्रिया में फंस कर रह जाते हैं और अंत में उन्हें निराशा ही हाथ लगती है।

क्या है NBFC?

NBFC का फुल फॉर्म होता है Non Banking Financial Company. यानि कि वे Finance कंपनियां जो कि बैंक नहीं है लेकिन लोन प्रदान करती हैं। NBFC से लोन लेना बेहद आसान होता है। ज्यादातर एनबीएफसी बिजनेस लोन ऑनलाइन प्रदान करती हैं। जिसकी वजह से आपकी भाग-दौड़ बच जाती है। इसके साथ ही इनकी कागजी कार्यवाई ज्यादा लंबी-चौड़ी नहीं होती है।

एनबीएफसी कैसे है बेहतर विकल्प-

वैसे तो बिजनेस लोन लेने के बहुत सारे विकल्प हैं, लेकिन इन सारे विकल्पों में से NBFC सबसे बेहतर विकल्प है। बिजनेस लोन के लिए अगर आप बैंको में अप्लाई करते हैं, तो आपको बैंको की एक लंबी-चौड़ी कागजी कार्यवाई से गुजरना पड़ता है और काफी भाग-दौड़ भी करनी पड़ती है। लेकिन NBFC से बिजनेस लोन लेने में आप इस कागजी कार्यवाई से बच जाएंगें। इसके साथ ही आपको भाग-दौड़ भी नहीं करनी पड़ती है।

बैंको में आपको सिबिल स्कोर के मानदंडों को भी पास करना होता है। मगर कुछ ऐसी NBFC होती हैं, जो कि सिबिल स्कोर के मानदंडों को नहीं फॉलो करती हैं। बल्कि उनके अपने खुद के योग्यता मापदंड होते हैं, जो कि यह सुनिश्चित करते हैं कि छोटे कारोबारियों को बिजनेस लोन मिल सके। जिसके कारण आपको बिजनेस लोन मिलना आसान हो जाता है।

कठोर योग्यता मपदंड-

nbfc loan

परंपरागत रूप से बैंक बहुत ही सख्त योग्यता मापदंड फॉलो करते हैं। जैसे अच्छा क्रेडिट स्कोर, पुनर्भुगतान या रीपेमेंट, अच्छी हिस्ट्री, और बकाया लोन। एक कोलेटरल)भुगतान के रूप में आपको लोन लेने के लिए अपनी संपत्ति को भी गिरवी रखना पड़ सकता है। इतना सब करने के बाद भी आपको आपकी संपत्ति की कीमत का 70%-80% ही लोन मिलेगा। लेकिन, एनबीएफसी के मामले में, आप अधिक राशि प्राप्त कर सकते हैं और संपार्श्विक या कोलैटरल रखने की भी कोई ज़रूरत नहीं होती।

बिना किसी सिक्योरिटी के बिजनेस लोन-

बैंकों से बिजनेस लोन लेने के लिए आपको कुछ ना कुछ गिरवी रखना पड़ता है। कई बार तो प्रॉपर्टी क गिरवी रखना पड़ता है। प्रॉपर्टी को सिक्योरिटी के रूप में गिरवी रखकर आप चिंतित रहते हैं। NBFC के पास इस समस्या का समाधान है। NBFC बिना किसी सिक्योरिटी के बिजनेस लोन प्रदान करती है। जिसकी वजह से वे कारोबारी भी बिजनेस लोन पा सकते हैं, जिनके पास घर या प्रॉपर्टी सिक्योरिटी के रूप में देने के लिए नहीं है। इसके साथ ही आप चिंता मुक्त भी होते हैं। यही कारण है कि NBFC इन सभी बिजनेस लोन लेने के तरीकों में से सबसे बेहतर है। इसी वजह से आजकल व्यवसायी NBFC को अधिक प्राथमिकता देते हैं।

लोन की तीव्र प्रक्रिया-

पारंपरिक बैंकों की तुलना में एनबीएफसी से लिए गए लोन काफी जल्दी प्रोसेस किये जाते हैं। बैंक से अप्रूवल मिलने में एक हफ्ते या उससे अधिक समय लग सकता है जबकि एनबीएफसी कुछ घंटों या दिनों में ही लोन अप्रूव कर देती हैं। इसलिए एनबीएफसी बिजनेस लोन कारोबारियों के लिए बहुत ही सुविधाजनक है।

कस्टमाइज्ड लोन ऑफर्स-

एनबीएफसी बिजनेस लोन लेने का सबसे बड़ा फायदा यह है, कि वे ग्राहक की आवश्यकता के अनुसार स्वनिर्धारित या कस्टमाइज्ड लोन भी देती हैं। यह चीज छोटे कारोबारियों के लिए बहुत महत्त्व रखती है, क्योंकि वे अपनी आवश्यकताओं के अनुसार लोन का लाभ उठाते सकते हैं। दूसरी तरफ, बैंकों के साथ ऐसा नहीं है क्योंकि वे ग्राहक की विश्वसनीयता के बारे में कड़े तरीकों को लागू करते हैं। एनबीएफसी ऑफर्स के साथ भी आपको बहुत सावधान रहना चाहिए क्योंकि वे ग्राहक के क्रेडिट रिस्क की स्थिति को ऑफसेट करने के लिए बहुत ही ज्यादा ब्याज दर लेते हैं।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 Comments