ISRO ने किये 104 उपग्रहों को एक साथ लांच। बनाया विश्व रिकॉर्ड

Update – 15th Feb 2017

ISRO ने बनाया विश्व रिकॉर्ड। ISRO के श्रीहरिकोटा स्थित आपने केंद्र से एक साथ 104 उपग्रहो को सफलता पूर्व लांच किया। 

ISRO (Indian Space Research Organization) जो भारत की अंतरिक्ष अनुसंधान का मुख्य केंद्र है। ISRO ने अपने श्रीहरिकोटा की केंद्र से एक साथ 104 उपग्रहों को लांच करने की तैयारी पूरी कर ली है। इस क्षेत्र में यह एक विश्व रिकॉर्ड हो जाएगा। इन उपग्रहों की मदद से भारत पहली बार शुक्र ग्रह पर जायेगा और साथ ही मंगल ग्रह पर भी वापसी करेगा।

ISRO

भारत बनायेगा विश्व रिकॉर्ड

सब कुछ योजना की मुताबिक सही रहा तो ISRO 15 फरवरी को सुबह 9:28 को अपने PSLV के इस्तेमाल से 104 उपग्रहों को लांच करेगा। इसमें 101 नैनो-सैटेलाइट शामिल हैं जिनमें से प्रत्येक इस्राइल, कजाखस्तान, नीदरलैंड, स्विट्जरलैंड, यूएई से और 96 सैटेलाइट अमेरिका के हैं, इसके अलावा, भारत के दो उपग्रह भी शामिल है।

विश्व में अब तक किसी ने 100 से ज्यादा उपग्रहों को लांच करने का प्रयास भी नहीं कीया है। पिछला विश्व रिकॉर्ड रूस के नाम है, जिसने वर्ष 2014 में एक ही अभियान में 37 उपग्रह लांच किए थे।

प्रक्षेपण के बारे में..

ISRO
पीएसएलवी-सी37 (कार्टोसैट-2 सीरीज) सैटेलाइट मिशन को 15 फरवरी को श्रीहरिकोटा से भारतीय समयानुसार सुबह 9:28 बजे प्रक्षेपित किया जायेगा। Polar Satellite Launch Vehicle (PSLV) अपने 39 वे उड़ान में 103 साथी उपग्रहों के साथ ‘Cartosat-2‘ उपग्रह के साथ प्रक्षेपित किया जायेगा।

Cartosat-2 का वजन 714 किलोग्राम तथा अन्य 103 उपग्रहों का कुल वजन 664 किलोग्राम है।

केंद्र सरकार ने ISRO के लिए बढ़ाया बजेट

हाल ही में पेश किए गए बजट में केंद्र सरकार ने स्पेश बजट में 23 फीसदी का इजाफा किया है, इसमें खासतौर पर मंगल के मिशन-2 और शुक्र मिशन का भी प्रावधान जोड़ा गया है. भारत का दूसरा मंगल मिशन 2021-22 में शुरू होगा, इस मिशन में इसरो रोबोट को ग्रह पर भेज सकता है. 2013 में किया गया मिशन पूर्ण रूप से भारतीय था।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 Comments