Android rooting क्या होता है? Rooting के क्या फायदे है?

Android के बारे मे

Android एक मोबाइल operating system है जो की google के द्वारा बनायी गयी है। आंड्रोइड कि शुरुवात वर्ष 2003 से हुई थी। android हर साल अपने एक नए version के साथ update होती है जिसे हम API कहते है। Android सिस्टम linux system के base पे develope कि गयी है।

Rooting क्या है…

Rooting का मतलब android software में ‘superuser’ का अधिकार और अनुमति प्राप्त करना। इस विशेषाधिकारों के साथ आप custom ROM install करना, custom theme install करना, फ़ोन का performance बढ़ाना, फ़ोन का स्पीड बढ़ाना, android के कुछ hidden features को unlock करना आदि का आप बड़े ही आसानी से कर सकते हो। रूटिंग एक android को hack करने का तरीका है। apple के ios फ़ोन में इसे jailbreaking कहते है।

Android rooting guide
Rooting your android device       gives you ability to bypass            system restrictions

इसे rooting क्यों कहते है…

‘root’ शब्द unix/linux सिस्टम में उपयोग में लिया जाता है,जो यह दर्शाता है कि, एक ऐसा user जिसे ‘superuser’ के अधिकार प्राप्त है और जो सॉफ्टवेर OS ( operating system) के किसी भी फाइल/प्रोग्राम को  बदल या edit कर सकता है। किसी भी कंपनी का mobile खरीदने पर मोबाइल कंपनी हमें ‘guest user’ के अधिकार देती है। इसमें user सिस्टम की फाइल access नहीं कर सकता, हलाकि यह कंपनियाँ ऐसा जानबुज के करते है, जीससे mobile को कोई ऐसा नुकसान न हो, जो repair करने के बहार हो (hard brick)।

User को gust अधिकार देने से मोबाइल कंपनियों को service support देने में आसानी होती है और वो मोबाइल os को बढे ही आसानी से update कर सकती है।

Rooting के फायदे….

1) custom ROM

आपने ये अक्सर लोगो को अपने मोबाइल फ़ोन में custom ROM को इनस्टॉल करते हुए देखा होगा। अब आप यह सोच रहे होंगे की ये ‘ROM’ क्या होती है, अगर simple word में समजे तो ROM एक ऐसा सॉफ्टवेर है जो अपने मोबाइल को चलाता है।ROM आपके device के ‘READ ONLY MEMORY’ में स्टोर की जाती है।

आपके android phone के लिए कई तरह की Custom ROM आपको मिल जायेगी जो आपके फ़ोन के look और performance को पूरी तरह बदल सकती है। अगर आप कोई पुराना android फ़ोन इस्तेमाल कर रहे हे जिसमे पुराने version की android os चल रही है और आपकी मोबाइल कंपनीने आपके मोबाइल को software support करना बंद कर दिया है तो आप custom ROM की मदद से नयी android version आपके मोबाइल में इनस्टॉल कर सकते है।

यह custom ROM’s आपको फ्री में मिलती है। अब बात ये आती है कि ये custom ROM कहा पे मिलती है? इसका एक ही जवाब है- xdadevelopers.com , एक ऐसी दुनिया जहा आपके फ़ोन को customize करने के बहुत सारे तरीके उपलब्ध है। इस वेबसाइट में आपको बस अपना मोबाइल का मॉडल नंबर सेलेक्ट करना होता है और आपको आपके मोबाइल के बारे में सभी guide उपलब्ध हो जाएंगे। हालांकि यह साइट इंग्लिश में है,इसलिए geekhindi के दर्शकों के लिए हम एक हिंदी गाइड जल्द ही लेके आएंगे।

2) Custom themes

Theme एक ऐसी ग्राफ़िक layer होती है जो आपके फ़ोन में दिखाई देती है। थीम लोड करने से आप आपके फ़ोन के graphics के हर एक पैलू को ( कलर,icons, आदि) बदल सकते है।

3) Battery Backup और Phone की Speed

ऐसी कई ROM आपको मील जाएंगी जिसे आप आपके फ़ोन के performance और स्पीड को बढ़ा सकते है और battery backup को बढ़ा सकते हो। कई developer फ़ोन के kernel( फ़ोन के सॉफ्टवेयर और hardware के बिच के communication की दुआ) को battery और speed को बढ़ने ने के लिए tweak करते है।

4) Latest version of software

मोबाइल जब थोड़ा पुराना होता है वैसे कंपनिया अपना सॉफ्टवेर सपोर्ट देना बंद कर देती है। अब ऐसे में हम जैसे user नए android version का लाभ नहीं उठा पाते है।   जैसे हमने पहले बाताया की rooting करने के बाद आप अपने फ़ोन में नए version की ROM install कर सकते है और android के नए features का लाभ उठा सकते है।

5) फ़ोन के files को backup करना

फ़ोन के apps और data को आप stock android में backup नहीं कर सकते लेकिन Rooting के मदद से आप आपके मोबाइल की सभी file और data को आपके memory card में save कर सकते हो। data backup के लिए playstore में कई apps उपलब्ध है लेकिन ‘Titanium Backup’ एक powerful app जिसे आपको rooting के बाद install करना जरुरी मना जाता है।

हमें उम्मीद है कि आपको android rooting के बारे में जरुरी जानकारी मिल गयी है। अगली पोस्ट में आपको मोबाइल रुट कैसे करते है इसके बारे में हम जानकारी देंगे।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *